Loading...

रतन टाटा के बारे में रोचक जानकारियां Interesting Facts About Ratan Tata

आज हम बात करेगे एक ऐसे शख़्स की जिसे चार बार प्यार हुआ लेकिन शादी नही हुई. एक ऐसे शख़्स की जिसका टाटा परिवार के साथ खून का रिश्ता नही है बल्कि ये तो गोद लिए हुए पुत्र है. एक ऐसे शख़्स की जिसने अपने राज़ में टाटा को शिखर पर पहुंचा दिया. जी हम बात कर रहे है रतन टाटा की. 


1. रतन टाटा का जन्म 28 दिसंबर 1937 को हुआ।

2. वे टाटा समूह के संस्थापक जमशेदजी टाटा के दत्तक पोते नवल टाटा के बेटे हैं।  जब रतन टाटा 10 साल के थे तो इनके माता-पिता अलग हो गए थे. तब जमशेदजी के बेटे रतनजी टाटा की पत्नी नवाजबाई (रतन टाटा की दादी) ने इन्हें गोद ले लिया था और पालन-पोषण किया.
   
3. रतन टाटा की स्कूल शिक्षा मुंबई में हुई।
 
4. रतन टाटा ने कॉर्नेल यूनिवर्सिटी से आर्किटेक्चर बीएस और हार्वर्ड बिजनेस स्कूल से एडवांस मैनेजमेंट प्रोग्राम किया।
 
5. रतन टाटा ने 1962 में टाटा समूह के साथ अपना करियर प्रारंभ किया।
 
6. रतन टाटा 1991 में जेआरडी टाटा के बाद समूह के पांचवें अध्यक्ष बने।
 
7. रतन टाटा को 2000 में पद्‍मभूषण और 2008 में पद्‍मविभूषण से सम्मानित किया गया।
   
8. टाटा ग्रुप के अंडर 100 कंपनी आती है. टाटा की चाय से लेकर 5 स्टार होटल तक, सूई से लेकर स्टील तक, लखटकिया नैनों कार से लेकर हवाई जहाज तक सब कुछ मिलता हैं.

9. रतन टाटा ने टेटली, जगुआर लैंड रोवर और कोरस जैसी कंपनियों का टाटा समूह में अधिग्रहण किया।

10. आज 80 देशों में टाटा समूह की कंपनियां मौजूद हैं।
 
11. रतन टाटा ने नैनो जैसी लखटकिया कार बनाकर आम आदमी का कार का सपना साकार किया।
 
12.रतन टाटा का कर्मचारियों से प्यार काब़िल-ए-तारीफ़ है. टाटा में नौकरी करना सरकारी नौकरी से कम नही है. रतन टाटा नए स्टार्टअप में भी इंवेस्ट करते है जैसे: Ola में, Paytm में etc.

13. रतन टाटा को एक तो पालतू जानवरों से प्यार है दूसरा उन्हें प्लेन उड़ाना पसंद है उनके पास लाइसेंस भी है.
 14. रतन टाटा ने IBM की नौकरी ठुकराकर टाटा ग्रुप के साथ अपने कैरियर की शुरूआत 1961 में as a tata steel employee की थी. लेकिन 1991 आते-आते वो टाटा ग्रुप के अध्यक्ष बन गए. 2012 में जाकर रिटायर हुए

15. सन् 2008 में 26/11 के दिन आतंकवादियो ने मुंबई के ताज होटल पर हमला किया था. इस होटल में जितने भी लोग घायल हुए थे उन सबका इलाज टाटा ने ही कराया था. होटल के आस-पास ठेला लगाने वाले जिन लोगो का नुकसान हुआ था उन सबकी मदद टाटा ने की. होटल जितने दिन तक बंद रहा, कर्मचारियों को उतने दिन की पूरी सैलरी दी गई थी. आपको बताते चलें, कि मुंबई के ताज होटल का निर्माण टाटा कंपनी बनाने वाले जमशेदजी टाटा ने करवाया था. यह होटल 1903 में 4 करोड़ 21 लाख रूपए में बनकर तैयार हुआ था.

16. रतन टाटा को चार बार प्यार हुआ लेकिन शादी नही हुई. एक बार तो उनकी शादी बस होने ही वाली थी. दरअसल, रतन टाटा को अमेरिका में पढ़ाई के दौरान एक लड़की से प्यार हो गया दोनों शादी के लिए तैयार भी हो गए. रतन की दादी की तबीयत खराब होने की वजह से रतन तो भारत आ गए लेकिन भारत-चीन युद्ध से उनकी प्रेमिका बहुत डर गई और भारत नही आई. और कुछ दिनों बाद उनकी प्रेमिका ने अमेरिका में ही किसी और से शादी कर ली.

17. रतन टाटा भारत या दुनिया के सबसे अमीर आदमी क्यों नही है ?
Ans. यही सवाल एक रिपोर्टर ने भी पूछा था. जवाब मिला कि वो व्यापारी है और मैं उद्योगपति. बात करते है अंबानी परिवार की, ये एक परिवार द्वारा चलाया गया बिज़नेस है बल्कि टाटा संस को टाटा ट्रस्ट द्वारा चलाया जाता है. सभी जानते है कि ट्रस्ट में किसी एक आदमी की हिस्सेदारी नही होती. टाटा की कमाई का 66% हिस्सा इसी ट्रस्ट में जाता है. रतन टाटा के रिटायरमेंट के बाद टाटा संस को तय करना पड़ा कि नया चेयरमैन कौन बनाया जाए जबकि अंबानी का तो अपने बिजनेस पर मालिकाना हक है उनका बिजनेस तो बेटे या बेटी के हाथ में ही जाएगा. अकेले आदमी की कंपनी न होने की वज़ह से रतन टाटा सबसे अमीर आदमी नही हैं. 

Amazing facts about cricket in hindi क्रिकेट के मजेदार facts

क्रिकेट के खेल में आंकड़े हमेशा महत्वपूर्ण होते हैं. बल्लेबाज के रनआउट होने से लेकर बैटिंग पोजिशन तक, सब कुछ आंकड़ों का खेल होता है. इन्हीं आंकड़ों से कुछ दिलचस्प फैक्ट बनते हैं. पेश है क्रिकेट से जुड़े दस मजेदार तथ्य. इसमे कोई शक की बात नहीं है की क्रिकेट भारत मे सिर्फ खेल ही नहीं एक धर्म की तरह है। चाहे बच्चा हो या बड़ा हर कोई इस खेल का दीवाना है




क्रिकेट का पहला टेस्ट मैच ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच खेला गया था। यह मैच 15 मार्च 1877 मे ऑस्ट्रेलिया के मेलबोर्न क्रिकेट ग्राउंड मे खेला गया था।

क्रिकेट का पहला one day मैच ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच 1971 मे खेला गया था।

ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज Charlie Bannerman विश्व के पहले बल्लेबाज थे जिन्होने टेस्ट मैच मे शतक लगाया। इन्होने 1877 मे टेस्ट क्रिकेट का पहला शतक लगाया

सचिन तेंदुलकर दुनियाँ के पहले खिलाड़ी है जो सबसे पहली बार थर्ड अंपायर द्वारा आउट दिये गए।


11-11-11 को 11:11 बजे साउथ अफ्रीका को जीतने के लिए 111 रन चाहिए थे


सैफ अली खान के दादा इफतीहार अली खान पटोदी एकमात्र ऐसे प्लेयर है जिन्होने टेस्ट मैच दो देशो से खेला हो। उन्होने भारत और इंग्लैंड दोनों की टीम से टेस्ट मैच खेला हुआ है


इंग्लैंड के बल्लेबाज Alec Stewart का जन्म 8-4-63 को हुआ था और उन्होने अपने टेस्ट मैच कैरियर मे 8463 रन बनाए है।


वीरेंदर सहवाग का का T20, ODI और Tests मैच मे highest score 119(ipl), 219 and 319 है।


One day क्रिकेट मे श्री लंका के   all rounder sanath jayasuriya ने shane warne से ज्यादा विकेट ली है।


Inzamam Ul Haq पहले पाकिस्तानी है जिन्होने अपने कैरियर की पहली गेंद पर विकेट लिया था।


पाकिस्तान की स्टार स्पिनर सईद अजमल ने पाकिस्तान को कई मैच जितवाए है लेकिन उसे आज तक एक भी बार man of the match नहीं मिला।


ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को पहली बार 1877 मे मेलबोर्न क्रिकेट ग्राउंड मे 45 रनो ने हराया था। ठीक 100 साल बाद 1977 मे उसी दिन उसी ग्राउंड पर ऑस्ट्रेलिया ने इंग्लैंड को फिर से 45 रनो से हराया।


वीवीएस लक्ष्मण ऐसे एकमात्र खिलाड़ी है जिन्होने 100 से ज्यादा टेस्ट मैच खेले है लेकिन कभी भी वर्ल्ड कप का एक  मैच नहीं खेला।

 लाला अमरनाथ ऐसे अकेले गेंदबाज है जिन्होंने डॉन ब्रैडमैन को हिट विकेट आऊट किया था.

 भारत ने पहला टेस्ट 1932 में खेला लेकिन पहला टेस्ट जीता 1952 में.

 द्रविड के सामने दुसरे बल्लेबाज 453 बार आऊट हुए है जो की कीसी भी बल्लेबाज के सामने आऊट हुए सबसे ज्यादा विकेट है.

 कपिल देव ने 175 रन की पारी खेली थी विश्वकप में जब भारत का स्कोर 17/5 था.
 क्रिस गेल एक मात्र बल्लेबाज हैं, जिसने टेस्ट क्रिकेट की पहली गेंद पर छक्का मारा है.

धोनी ने 6 कैच पकडे थे एक पारी में जो वनडे का रिकॉर्ड है.

 गावस्कर ने एक बार 174 गेंदों में 36 रन बनाए थे जो वनडे मैच था.

जिम लेकर के बाद अनिल कुंबले अकेले गेंदबाज है जिन्होंने टेस्ट की एक पारी में 10 विकेट लिए है.

सर डॉन ब्रैडमैन ने पूरे करियर में केवल 6 छक्के लगाए. हालांकि इससे उनके स्ट्राइक रेट पर कोई असर नहीं पड़ा. ब्रैडमैन अपने समय के सबसे बड़े हिटरों में से एक थे.

ये है ऑस्कर पुरस्कार पाने वाले 5 भारतीय और कुछ दिलचस्प बातें - Oscar winners Indian in hindi

साल 1929 में ऑस्कर अवॉर्ड्स की शुरुआत हुई. 22 फरवरी 2015 को 87वां अवॉर्ड समारोह आयोजित किया जाना है. दुनियाभर में फिल्म जगत के इस सबसे प्रतिष्ठि‍त अवॉर्ड को सराहा जाता है.ऑस्कर पुरस्कार को अकादमी पुरस्कार के नाम से भी जाना जाता है . यकीनन हर साल लोग यही जानना चाहते हैं कि बेस्ट फिल्म, बेस्ट एक्टर और बेस्ट एक्ट्रेस का ऑस्कर किसे मिला मुझे यकीन है कि आप ये बातें नहीं जानते हैं.
Oscar awards in hindi
भानु अथैया एक costume designer है. इन्होने 100 से अधिक फिल्मो के लिए कॉस्ट्यूम डिज़ाइन किये है.  भानु अथैया पहली भारतीय है जिन्हें 1983 में “गाँधी” फिल्म में बेस्ट कॉस्टयूम डिजाईनर के लिए ऑस्कर आवार्ड मिला है.
सत्यजीत रे (1992) – satyajit ray
सत्यजीत रे एक बंगाली फ़िल्म निर्देशक थे जिन्होंने कई सुपरहिट फिल्मो का निर्देशन किया. भारत सरकार ने 1992 में इन्हें देश के सबसे बड़े पुरस्कार भारत रत्न से सम्मानित किया.  सत्यजीत रे को (1992) ऑस्कर  लाइफ टाइम अचीवमेंट आवार्ड के क्षेणी में दिया गया जिसके लिए उन्होंने बीमार अवस्था में भी अस्पताल से लाइव भाषण दिया था. इन्हें सम्मानित करने के लिए ऑस्कर के अधिकारी खुद कोलकाता के हॉस्पिटल में आये थे.

ऐ आर रहमान (2009) – ar rahman
अल्लाह रक्खा रहमान जिन्हें ऐ आर रहमान के नाम से जाना जाता है एक प्रसिद्ध भारतीय संगीतकार है जिन्हें फिल्म स्लम डॉग मिलेनियर के लिए दो ऑस्कर आवार्ड एक साथ मिले. इन्हें “स्लम डॉग मिलिनियर” के गाने “जय हो” के लिए बेस्ट ओरिजिनल सोंग और इसी गाने के लिए बेस्ट ओरिजिनल स्कोर का ऑस्कर आवार्ड दिया गया था.

गुलज़ार (2009) – gulzar
गुलज़ार भारतीय एक प्रसिद्ध शायर, फ़िल्म निर्देशक, संगीतकार और लेखक है.  फिल्म “स्लम डॉग मिलिनियर” के गाने “जय हो” के लिरिक्स/lyrics लिखने वाले गुलज़ार ही थे जिसके लिए उन्हें 2009 में बेस्ट ओरिजिनल सोंग(लिरिक्स) आवार्ड दिया गया था.

रेसुल पुकुट्टी (2009) – resul pookutty
रेसुल पुकुट्टी एक sound designer और sound editor है जो “जय हो’ गाने के साउंड मिक्सर थे. यह बेस्ट साउंड मिक्सिंग ऑस्कर आवार्ड के विजेता बने.


ऑस्कर पुरस्कार के बारे में दिलचस्प बातें ( Amazing Facts about oscar awards )
1)ऑस्कर के इतिहास में सबसे सफल फिल्म 'बेन-हर', 'टाइटेनिक' और 'लॉर्ड ऑफ द रिंग्स: द रिटर्न ऑफ द किंग' रही हैं. तीनों फिल्मों को 11-11 ऑस्कर मिले, जबकि सिर्फ 'लॉर्ड ऑफ द रिंग्स' ने सभी कैटेगरी में अवॉर्ड जीते.
2) बेस्ट पिक्चर अवॉर्ड पाने वाली सबसे लंबी अवधि की फिल्म के तौर पर 'गॉन विद द विंड' का नाम शामिल है. यह फिल्म 234 मिनट की है.
3) इस साल सबसे लंबी अवधि की फिल्मों में 'वार हॉर्स' (146 मिनट) और 'द हेल्प' (140 मिनट) शामिल है.
4) ऑस्कर के इतिहास में अभी तक सबसे अधिक नॉमिनेशन पाने वाली फिल्म 'टाइटेनिक' है. इस फिल्म को 14 कैटेगरी में नॉमिनेट किया गया था.
5) साल 1929 से लेकर अभी तक ऑस्कर में सबसे अनलकी फिल्मों के तौर पर 1978 में रिलीज फिल्म 'द टर्निंग प्वॉइंट' और 1986 में रिलीज फिल्म 'द कलर पर्पल' का नाम आता है. 11-11 नॉमिनेशन के बावजूद इन दोनों फिल्मों को एक भी ऑस्कर नसीब नहीं हुआ.
6) एक्टर कैटेगरी में सबसे अधि‍क अवॉर्ड जीतने वाली फिल्म 'लुक नो फर्दर दैन नेटवर्क' (1976) और 'ए स्ट्रीटकार नेम्ड डिजायर' (1951) है. दोनों ने तीन-तीन एक्टर कैटेगरी अवॉर्ड जीते.
7) एक्ट्रेस मेरिल स्ट्रीप सबसे अधि‍क 14 बार ऑस्कर के लिए नॉमिनेट हुई हैं.
8) कैथरीन हेपबर्न ने सबसे अधि‍क चार बार बेस्ट एक्ट्रेस का ऑस्कर जीता है.
9) बीते 11 वर्षों में बेस्ट एक्ट्रेस का अवॉर्ड पाने वाली 7 एक्ट्रेस को यह अवॉर्ड रीयल लाइफ कैरेक्टर्स प्ले करने के कारण मिला है.
10) 'डार्क नाइट' के लिए हीथ लेजर की जीत से पहले, पीटर फिंच एकमात्र ऐसे एक्टर थे जिन्हें मरणोपरांत अकादमी अवॉर्ड से सम्मानित किया गया था.
11) मरणोपरांत बेस्ट एक्टर के तौर पर नॉमिनेशन पाने वालों में जेम्स डीन, स्पेंसर ट्रेसी और मासिमो टी. का नाम शामिल है.
12) एड्रीन ब्रॉडी (29) सबसे कम उम्र में बेस्ट एक्टर का अवॉर्ड पाने वाले एक्टर हैं. जबकि हेनरी फॉन्डा (76) ने सबसे अधिक उम्र में यह अवॉर्ड पाया.
13) साल 1973 में रिलीज 'पेपर मून' के लिए टैटम ओ'नील को बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस का अवॉर्ड मिला. तब वह सिर्फ 10 साल की थीं, जो कि सबसे कम उम्र में ऑस्कर पाने का रिकॉर्ड है.
14) देबोरा कैर और थेलमा रिटर कुल 6 साल बेस्ट एक्ट्रेस के लिए नॉमिनेट हुईं, लेकिन एक बार भी अवॉर्ड नहीं पा सकीं. इस बार नॉमिनेशन पानी वाली ग्लेन क्लोज भी छठी बार नॉमिनेट हुई हैं.
15) मैगी स्मि‍थ एकमात्र ऐसी एक्ट्रेस हैं, जिन्होंने पर्दे पर ऑस्कर लूजर की भूमिका निभाई और 1978 में रिलीज 'कैलिफोर्निया सूट' के उसी रोल के लिए उन्हें ऑस्कर मिला.
16) 'वार हॉर्स' प्रोड्यूसर कैथलीन कैनेडी की सातवीं फिल्म है, जो बेस्ट पिक्चर के लिए नॉमिनेट हुई है.
17) बेस्ट फॉरेन लैंग्वेज फिल्म कैटेगरी में पहली बार 1958 में अवॉर्ड दिया गया. फेलिनी के 'ला स्ट्राडा' ने यह अवॉर्ड जीत था.
18) 'द गॉडफादर: पार्ट-2' ऑस्कर के इतिहास में एकमात्र ऐसी सीक्वल फिल्म है जिसे बेस्ट पिक्चर का अवार्ड मिला.
19) 'मिडनाइट काउब्वॉय' एकमात्र ऐसी एक्स-रेटेड फिल्म है, जिसे बेस्ट पिक्चर का अवॉर्ड मिला है.
20) इटली ने सबसे अधि‍क बार 10 बार बेस्ट फॉरेन लैंग्वेज फिल्म का अकादमी अवॉर्ड जीता है.
21) कुल आठ भाषाओं की फिल्मों को बेस्ट फॉरेन लैंग्वेज फिल्म के तौर पर नॉमिनेट किया जाता है.
22) डायरेक्टर्स गिल्ड अवॉर्ड में सर्वश्रेष्ठ फिल्म का सम्मान पाने वाली 50 फिल्मों को अभी तक बेस्ट पिक्चर का ऑस्कर मिला है.
23) साल 1945 में 'द बेल्स ऑफ सेंट मैरी' पहली ऐसी सीक्वल फिल्म थी, जिसे ऑस्कर के लिए नॉमिनेट किया गया था.
24) स्क्रीनप्ले राइटर के तौर पर वुडी एलेन ऑस्कर के लिए 14 बार नॉमिनेट हो चुके हैं. उन्होंने दो बार यह पुरस्कार जीता है.
25) पर्दे पर एक ही कैरेक्टर को प्ले करने के लिए दो एक्टर मारलन ब्रांडो और रॉबर्ट डी नेरो को अकादमी अवॉर्ड मिला है. दोनों ने 'द गॉडफादर' और 'द गॉडफादर-2' में विटो कोरलियोनो का किरदार निभाया है.
26) डायरेक्टर्स गिल्ड में बेस्ट डायरेक्टर का अवॉर्ड पाने वाले सिर्फ छह डायरेक्टर को ऑस्कर में बेस्ट डायरेक्टर का अवॉर्ड मिला है.
27) ऑस्कर में सबसे अधि‍क नॉमिनेट होने वाला कैरेक्टर 'हेनरी- VIII' है. इस रोल के लिए तीन एक्टर्स को नॉमिनेशन मिला.
28) अगर इस बार डेमियन बिशिर को ऑस्कर मिलता है तो वह यह अवॉर्ड पाने वाले पहले मैक्सिकन होंगे.
29) पीटर ओ'टूले आठ बार बेस्ट एक्टर के लिए नॉमिनेट हो चुके हैं, लेकिन उन्हें कभी यह अवॉर्ड नहीं मिला है.
30) साल 2001 में किए गए एक स्टडी के मुताबिक, एक से अधिक बार ऑस्कर जीतने वाले एक से अधिक बार ऑस्कर हारने वालों के मुकाबले कम जीवित रहते हैं.
31) 'एयरबोर्न स्पेक्टैकुलर विंग्स' (1929) बेस्ट फिल्म का ऑस्कर जीतने वाली पहली साइलेंट‍ फिल्म है.
32) अब तक तीन एनिमेटेड फिल्मों को बेस्ट पिक्चर कैटेगरी में ऑस्कर नॉमिनेशन मिला है. इनमें 'बयूटी एंड द बीस्ट' (1991), 'अप' (2010) और 'टॉय स्टोरी' (2011) शामिल है.
33) एक ही साल तीन बेस्ट फिल्मों में काम करने वाले एक्टरों की फेहरिस्त में थॉमस मिशेल पहले एक्टर हैं. जबकि 2002 में ऐसा करने वाले जॉन सी रैली चौथे.
34) साल 1938 में ऑस्कर में बेस्ट विज्युअल इफेक्ट्स कैटेगरी को शामिल किया गया.
35) 'द आर्टिस्ट' दूसरी साइलेंट और आखि‍री ब्लैक एंड व्हाइट फिल्म है, जिसे ऑस्कर मिला.
36) डायरेक्टर जीरोम रॉबिन्स को उनकी एकमात्र फिल्म 'वेस्टसाइड' के लिए बेस्ट डायरेक्टर का ऑस्कर मिला.
37) जॉन कैजाले अपने फिल्मी सफर में पांच फिल्मों में नजर आएं, जबकि उनकी पांचों फिल्मों को ऑस्कर में नॉमिनेट किया गया.
38) अभी तक इतिहास से प्रेरित, ड्रामा, कॉमेडी, हॉरर, बायोपिक और साइंटिफिक फिक्शन फिल्मों ने बेस्ट पिक्चर का ऑस्कर पाया है.
39) अभी तक जितने लोगों ने भी बेस्ट डायरेक्टर का अवॉर्ड पाया है, उनमें अधिकतर की उम्र 46 साल रही है.
40) ऑस्कर पाने वाली ब्लैक एंड व्हाइट फिल्मों की फेहरिस्त में 'द आर्टिस्ट' और 1993 में रिलीज 'स्किंडलर्स लिस्ट' से पहले बिली विल्डर की फिल्म 'द अपार्टमेंट' (1960) का भी नाम शामिल है.
41) विलियम वीलर की फिल्मों में काम करने वाले 36 एक्टर और एक्ट्रेस ऑस्कर में नॉमिनेशन पा चुके हैं.
42) साल 1970 में जॉर्ज सी स्कॉट ने बेस्ट एक्टर अवॉर्ड लेने से मना कर दिया था.
43) स्क्रीनराइटर डडली निकोलस पहले शख्स हैं, जिन्होंने 1935 में अवॉर्ड ठुकरा दिया था.
44) जिंदा रहते हुए सबसे ज्यादा 8 ऑस्कर पाने का रिकॉर्ड कंपोजर एलन मेनकेन के नाम है.
45) वाल्ट डिज्नी को अभी तक सबसे अधिक 32 बार ऑस्कर से सम्मानित किया गया है.
46) ऑस्कर समारो के दौरान अब कोई भी विजेता सिर्फ 45 सेकेंड भाषण दे सकता है.
47) एक्ट्रेस जी. पालट्रो ने ऑस्कर पाने के बाद सबसे अधिक 23 बार 'थैंक यू' शब्द का प्रयोग किया.
48) साल 1940 में लॉस एंजिलिस टाइम्स ने ऑस्कर समारोह से पहले ही विजेताओं के नाम प्रकाशित कर दिए थे.
49) कोडैक स्टूडियो में 3332 लोगों के बैठने की जगह है, जबकि ऑस्कर समारोह के दौरान अगर सारे गेस्ट आ जाएं तो करीब 250 लोगों के लिए कुर्सी की व्यवस्था अलग से करनी पड़ेगी.
50) बॉब होप सबसे अधिक 19 बार ऑस्कर नाइट को होस्ट कर चुके हैं

Amazing Facts about Bal Thackeray in Hindi

gajab-hindi bala saheb thakre in hindi


बहुत कम लोग जानते हैं कि बाला साहब ठाकरे ने अपना कैरियर एक “कार्टूनिस्ट” के रूप में शुरू किया था और उस समय वे एक अंग्रेजी न्यूज पेपर में कार्टून बनाते थे। बाद में उन्होंने “मार्मिक” नाम से अपना एक साप्ताहिक न्यूज पेपर भी निकाला था।

बाला साहब का बचपन का नाम बाल केशव ठाकरे था जो वक्त के साथ-साथ बाला साहब ठाकरे बन गया क्योंकि लोग उनकी बहुत ज्यादा रिस्पेक्ट करते थे।

बालासाहेब ठाकरे को हिंदू हृदय सम्राट भी कहा जाता था वह हमेशा बिना देखे ही भाषण दिया करते थे और उन्हें सुनने के लिए लाखों में भीड़ उमड़ा करती थी।

इस बात को भी कम ही लोग जानते हैं कि बाला साहब ठाकरे मुम्बई को भारत की राजधानी बनाना चाहते थे, उन्होंने इसके लिए 1950 के दशक में काफी कार्य भी किया था।

बाल ठाकरे जब किसी का विरोध करते थे तो दुश्मनों की तरह, और जब तारीफ करते थे तो ऐसे कि जैसे उनसे बड़ा कोई मित्र नही।

 19 जून 1966 को बाल ठाकरे ने शिवाजी पार्क में नारियल फोड़कर अपने दोस्तों के साथ पार्टी बनाई थी “शिवसेना“. जो आज भी चल रही है।

1960 और 1970 के दशक में महाराष्ट्र में “लुंगी हटाओ, पुंगी बचाओ” अभियान चलाया गया. ये स्पेशली बिहारियों के लिए था क्योकिं बाल ठाकरे ने अपने समाचार पत्र के मुख्य पेज पर भी लिख दिया था कि “एक बिहारी, सौ बीमारी“।

अपने भाषणों में बाल ठाकरे अक्सर 2 ही चीजों की खुलकर तारीफ करते थे, एक था “हिटलर” और दूसरा श्रीलंका का आतंकी संगठन “लिट्टे“.

बाला साहब ठाकरे चांदी के सिंहासन पर बैठते थे जहां पर विरोधी भी उनके सामने उनसे नीचे बैठा करते थे और वह किसी को भी खुले आम धमकी देने में माहिर थे।

सन् 1992 में बाबरी मस्जिद ढहा दी गई, तो बाल ठाकरे “आप की अदालत” शो में आए हुए थे जब उनसे कहा जया कि सुना है ये काम शिवसैनिको ने किया है ? तो वो बोले यदि ये काम शिवसैनिकों ने किया है तो यह गर्व की बात है।

 बाल ठाकरे के कुछ स्पेशल शौक थे. सिगार, वाइट वाइन etc. ज्यादातर फोटो या इंटरव्यू में उनके हाथ में पाइप या सिगार होती है. पाइप तो 1995 में दिल के दौरे के बाद छोड़ दी लेकिन सिगार तो मौत के साथ ही छूटी।

1999 में बाल ठाकरे पर 6 साल तक वोट डालने और चुनाव लड़ने पर बैन लगा था। लेकिन बाल ठाकरे ने अपने जीवन में कभी चुनाव नही लड़ा।

बाल ठाकरे ना तो मुख्यमंत्री थे और ना सांसद. फिर भी उन्हें मरने के बाद ‘21 तोपों की सलामी‘ दी गई. जो राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री को मिलती है। 

दिमाग के कुछ रोचक तथ्य – Amazing facts about human brain